ऐसा भी होता है – 16 दिन तक नाग की लाश के पास बैठी रही नागिन और फिर …..

नाग नागिन का प्यार कहें या चमत्कार पर हुआ तो कुछ ऐसा ही है

morena snake and serpent

मध्य प्रदेश के मुरेना जिले के खेरिया गाँव में 16 दिन से एक नागिन अपने मरे हुए नाग साथी के शव के पास बैठी हुई थी और वहां से हिल नहीं रही थी, इस घटना की इलाके  में जोर शोर से चर्चा हो रही थी .. कुछ लोगों ने इस जोड़े को भगवन का रूप मान के  उस जगह पर पूजा पाठ भी शुरू कर दिया था  पर जब 16 दिन नाग के शव से बदबू आनी शुरू हुई तो गाँव वालों ने नाग का दाह संस्कार करने की सोची और उसकि चिता बना के उसमे आग लगायी ही थी की थोड़ी देर बाद नागिन ने भी अपना शरीर छोड़ दिया (हालांकि कुछ लोगों की मानें तो नागिन कुछ नहीं खा रही थी जिस वजह से उसके प्राण गए ) जिसको देख वहां की लोग और श्रद्धामय हो गए और नागिन को सती का रूप मान के नागिन का दाहसंस्कार भी नाग के साथ ही कर दिया गया, अब गाँव वाले उस जगह पर मंदिर बनाने की बात भी कर रहे हैं

इस घटना को हम और आप लोग अन्धविश्वास कहेंगे पर जो सवाल यहाँ उठते हैं की …नागिन उस जगह को छोड़ के क्यूँ नहीं गयी और ठीक नाग को जलाते ही उसने अपने प्राण क्यूँ त्यागे या उसकि जान क्यूँ गयी   …. इन सवालों के जवाब आप लोग ही ढूंढे, हमें तो बस इनता कहना है जिस भी चीज में जान है वो प्यार तो जानता ही है

Add Comment