हर आँख छलक गयी जब शहीद की बेटी ने पूछा “होगा की नहीं होगा”

जम्मू कश्मीर में आतंकियों से लड़ते शहीद हुए कर्नल म न राय को कल अंतिम विदाई दे दी गयी. विदाई के समय वहां मौजूद हर आँख नम थी पर जब शहीद की १२ वर्षीया बेटी ने श्रधांजलि पुष्प अर्पित करते हुए अपने पिता की तरह ही बहादुरी दिखाते हुए गोरखा राइफल का युद्धघोष “होके के होई ना, होना ही परचा” अर्थात “होगा की नहीं होगा, होके ही रहेगा” बोला तो हर आँख भर आई …. इसको देख वहां मौजूद गोरखा रायफल के जवानों ने भी अपने साथी को इसी युद्धघोष के साथ सलामी और विदाई दी. इस बहादुर बेटी और देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले शहीद कर्नल राय को हमारा सलाम.

Add Comment